SRH VS PBKS – रोमांचक मुकाबले में सिर्फ दो रन से जीती SRH

SRH VS PBKS – IPL 2024 का 23वा मुकाबला महाराजा यादविंद्र सिंघ क्रिकेट स्टेडियम में SRH VS PBKS के बीच में खेला गया। यह मुकाबला काफी ज्यादा रोमांचक था,जिसमें एक से बढ़कर एक बेहतरीन पल देखने को मिले। आपको बता दे कि इस मुकाबले में SRH ने सिर्फ दो रन से जीत हासिल की।

लेकिन इस मुकाबले में क्या-क्या देखने को मिला? यह सिर्फ इस मुकाबले को देखने वालों को ही पता है। यह मुकाबला एक कांटे का मुकाबला था और जिसमें SRH ने भी अपना पूरा जोर लगाया और PBKS ने भी अपना पूरा दमखम दिखाया।

इस मुकाबले में भले ही PBKS हार गई हो, लेकिन PBKS ने दिखा दिया है कि हम भी कम नहीं है और SRH ने भी दिखा दिया है कि हमारा हर एक प्लेयर मैच को जीतने का दम रखता है। बाकी इस मुकाबले में क्या-क्या देखने को मिला?, इस ताजा रिपोर्ट में आपको पूरी जानकारी मिल जाएगी।

SRH VS PBKS - रोमांचक मुकाबले में सिर्फ दो रन से जीती SRH

SRH VS PBKS – – का टॉस की भूमिका क्या रही? SRH VS PBKS के बीच में खेले गए इस मुकाबले में पहले PBKS ने टॉस जीत लिया, जिसमें शिखर धवन ने गेंदबाजी करने का फैसला लिया। शिखर धवन के द्वारा लिया गया गेंदबाजी का फैसला उनके हक में साबित हुआ और बहुत अच्छा मैच देखने को मिला।

शिखर धवन को पता था कि अगर वह पहले गेंदबाजी ना करके पहले बल्लेबाजी करेंगे तो SRH के पास इतने बैट्समैन है कि वह आराम से यह मैच जीत जाएंगे। इसलिए उन्होंने पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया, ताकि उनको कम से कम रनों पर रोका जाए और उसके बाद में बैटिंग करके आसानी से मैच को जीत जाए।

लेकिन इस मुकाबले में वह कुछ देखने को मिला जिसकी लोगों ने उम्मीद नहीं की थी।

गलती के बाद शिखर धवन ने गलती को सही किया?

आपको बता दे कि SRH की तरफ से बल्लेबाजी करने उतरे टी हेड जब अपनी गेम की पहली गेंद खेल रहे थे, तब रबाडा ने कैच आउट कर दिया था। आपको बता दे कि जब रबाडा ने अपनी पहली गेंद डाली, तब तिहाड़ के बल्ले से जरा सी लगकर सीधे विकेट कीपर के दस्तानों में जाकर गेंद थम गई।

उसके बाद में जोरदार अपील भी हुई लेकिन शिखर धवन ने डीआरएस नहीं लिया क्योंकि विकेट कीपर ने डीआरएस लेने से मना किया था।
उसके बाद में जब पता चला कि टी हेड आउट थे, तब शिखर धवन और पूरी पंजाब की टीम को झटका सा लगा और उनको लगा कि हमें डीआरएस लेना चाहिए था।

यह शिखर धवन से गलती हो गई जिसका कामयाजा पंजाब किंग्स को भोगना पड़ सकता था, लेकिन शिखर धवन ने अपनी गलती सुधारने का ठान लिया था। उसके बाद में अर्शदीप सिंह बोलिंग लेकर आए और अर्शदीप सिंह ने टी हेड का कैच डायरेक्ट शिखर धवन के हाथों में पकड़ा दिया और शिखर धवन ने एक बेहतरीन कैसे पकड़कर तिहाड़ को आउट कर दिया।

दरअसल आपको बता दे कि ट्रैविस हेड पहले भी आउट हो चुके थे, लेकिन डीआरएस नहीं लेने की वजह से उनको आउट नहीं माना गया। ट्रैविस हेड ने 15 बोलो में 21 रन बना दिए। 15 बोलो में 21 रन कोई ज्यादा रन नहीं थे। स्ट्राइक रेट कम होने की वजह से ट्रैविस हेड ने PBKS को ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचा और शिखर धवन ने एक बेहतरीन कैच लेकर अपनी गलती को सुधार लिया था।

नीतीश रेडी की शानदार पारी

कहते हैं कि अगर आप अपने बुरे समय में संभल जाते हो तो आपका अच्छा समय आते समय नहीं लगता। ऐसा कुछ इस मैच में देखने को मिला जब नितीश कुमार रेड्डी बल्लेबाजी करने आए, नितीश कुमार रेड्डी जब बल्लेबाजी करने आए थे। तब एक के बाद एक बल्लेबाज पवेलियन को जा रहे थे।

ऐसे में नीतीश रेड्डी ने काफी धीरे खेलना पसंद किया क्योंकि विकेट रोकने काफी ज्यादा जरूरी थे। बहुत जल्दी 4 विकेट जा चुके थे। ऐसे में नितेश रेड्डी ने संभाल कर खेला, पहले नीतीश रेड्डी ने 18 बॉल खेलकर सिर्फ 14 रन बनाए थे। ऐसे में दर्शक उन्हें गालियां दे रहे थे लेकिन उन्होंने उन गलियों को तारीफों में बदलवा दिया।

उन्होंने ऐसी पारी खेली ऐसी पारी खेली की 37 बोलो में 64 रन बनाकर दर्शकों को एक तोहफा दे दिया। उनकी पारी में 5 छक्के और 4 छक्के भी शामिल थे। नीतीश रेडी ही वह शख्स हैं जिन्होंने इस मैच में SRH को इस मैच में बनाए रखा। वरना PBKS के बॉलर्स ने एक के बाद एक SRH के बल्लेबाजों को पवेलियन भेजनें का सिलसिला शुरू कर दिया था।

घुटने टेक दिए पंजाब की टीम ने

अगर PBKS की टीम से आशुतोष शर्मा और शशांक सिंह को इस मैच से निकाल दिया जाए, तो किसी भी बल्लेबाज ने अपना अच्छा प्रदर्शन नहीं किया। जिसके चलते पंजाब की टीम ने SRH के सामने घुटने टेक दिए और एक जीते हुए मैच को हार के मुख में जाने दिया।

दरअसल PBKS के कोई भी बल्लेबाज SRH के बॉलर्स के सामने टिक नहीं पा रहे थे। किसी ने भी अच्छा प्रदर्शन नहीं किया, जबकि SRH के फील्डर और बॉलर्स उनको बहुत ज्यादा मौके दे रहे थे। एक के बाद एक कैच ड्रॉप हो रहे थे। उसके बाद में भी PBKS की टीम संभाल नहीं पाई और उन्होंने के घटिया प्रदर्शन के चलते, यह मैच उनके हाथ से चला गया।

हालांकि आशुतोष शर्मा और शशांक सिंह ने आखिरी में अच्छा प्रदर्शन किया। लेकिन कहा जाता है कि किसी एक प्लेयर की वजह से आप मैच नहीं जीत सकते। आप सभी को अपना सर्वोत्तम योगदान देना होगा, तभी आप अच्छा प्रदर्शन कर पाएंगे और अपनी टीम को जीता पाएंगे।

लेकिन PBKS की टीम के बल्लेबाजों के द्वारा ऐसा कुछ देखने को नहीं मिला जिसका खामियाजा यह रहा कि PBKS यह मैच सिर्फ दो रन से हार गई।

शशांक सिंह और आशुतोष शर्मा की जबरदस्त पारी

जब PBKS की टीम बल्लेबाजी करने उतरी तब एक के बाद एक बल्लेबाज पवेलियन से आ रहे थे और पवेलियन को जा रहे थे। कभी भी ऐसा नहीं लगा कि PBKS यह मैच जीत जाएगी, कल लेकिन जब शशांक सिंह बल्लेबाजी कर रहे थे और उनका साथ दे रहे थे आशुतोष शर्मा, तब एक बार ऐसा लगा कि यह मैच जीता जा सकता है क्योंकि शशांक सिंह अपना बढ़िया प्रदर्शन कर रहे थे।

इस IPL में उनका बढ़िया प्रदर्शन ही देखने को मिला है, आशुतोष शर्मा भी अपने नाम के मुताबिक अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे। आखरी ओवर में 6 बोलो पर 29 रन चाहिए थे और ऐसा लग रहा था कि यह रन बनाए भी जा सकते हैं और नहीं भी बनाए जा सकते। क्योंकि बल्लेबाजी कर रहे थे आशुतोष शर्मा, जिन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया था और साथ में उनका साथ दे रहे थे शशांक सिंह।

बॉल में 29 रन तो नहीं आ सके। लेकिन 27 रन बनाए जा चुके थे।
PBKS दो रनों से यह मैच हार गई। लेकिन शशांक सिंह ने टीम के मुश्किल समय में 25 गेंद में 46 रन बनाए और आशुतोष शर्मा ने 220 रनों की स्ट्राइक रेट से 15 गेंद में 33 रन बनाए, जो काबिले तारीफ थे।

हालांकि PBKS यह मुकाबला हार गई, लेकिन PBKS की तरफ से लड़ाई अच्छी लड़ी गई और उन्होंने आसानी से हार नहीं मानी और एक सम्मान जनक हार का सामना उन्होंने किया।

यह भी पढ़ें :-

निष्कर्ष – SRH VS PBKS – रोमांचक मुकाबले में सिर्फ दो रन से जीती SRH

यह मुकाबला काफी ज्यादा रोमांस से भरा हुआ था क्योंकि SRH का कोई प्लेयर ऐसा नहीं था। जिसने अच्छे रन बनाए थे। उस टाइम नीतीश रेड्डी ने SRH की कमान संभालकर एक अच्छा स्कोर बना दिया था और उनको इस मैच में बनाए रखा था। दूसरी तरफ PBKS की तरफ से बल्लेबाजी करने उतरे, किसी भी बल्लेबाज ने अपना अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था।

लेकिन आखिरी में आशुतोष शर्मा और शशांक सिंह ने गेम को चेंज करके रख दिया और जीतते जीतते इस मैच को सिर्फ दो रनों से हार स्वीकार की।
कुल मिलाकर यह मुकाबला काफी ज्यादा रोमांस से भरा हुआ था। दरअसल इस मैच को देखकर किसी को ऐसा नहीं लगा था कि इस मैच में कुछ ऐसा भी देखने को मिल जाएगा।

बाकी इस मुकाबले के बारे में आप लोग क्या विचार रखते हो कमेंट करके जरूर बताना।

Leave a comment