RR VS KKR – हार कर जीतने वाले को राजस्थान कहते हैं

RR VS KKR – IPL 2024 का 31वा मुकाबला RR VS KKR के बीच ईडन गार्डन्स स्टेडियम में 16 अप्रैल 2024 को खेला गया। इस मुकाबले में लगभग KKR जीत चुके थे क्योंकि सुनील नारायण ने वह करके दिखाया था जिसकी उम्मीद सुनील नारायण से की जा रहे थी। लेकिन राजस्थान को यह गवारा नहीं था कि राजस्थान की शान में कोई गुस्ताखी करें और वह यह मैच हार जाए।

RR के बटलर ने राजस्थान को हारा हुआ मैच जीता दिया, जहां पर ऐसा लग रहा था कि RR कितनी भी कोशिश कर लें यह मैच नहीं जीतेगी। वहां पर RR के बल्लेबाजों ने वह करके दिखाया जिसकी उम्मीद नहीं की जा रही थी और आखिरकार 2 विकेट से यह वाला मुकाबला RR जीत गई

इस वाले मुकाबले में बहुत कुछ देखने को मिला, बहुत सारे रिकॉर्ड बने और बहुत सारे रिकॉर्ड टूटे RR VS KKR के बीच खेले गए इस मुकाबले की पूरी रिपोर्ट इस वाली ताजा रिपोर्ट में आपको मिल जाएगी। इसलिए इस रिपोर्ट को पूरा पढ़े।

RR VS KKR - हार कर जीतने वाले को राजस्थान कहते हैं

RR VS KKR – क्या रही टॉस की भूमिका

RR VS KKR के बीच में जब टॉस हुआ तब RR ने टॉस जीत लिया और पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया। RR का यह फैसला उनके हक में साबित तब हुआ। जब RR 2 विकेट से यह वाला मुकाबला जीत गई।
पिछले कुछ मुकाबला से देखा जा रहा था कि जो टीम पहले गेंदबाजी कर रही है, उसको दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है और आखरी में वह चाह कर भी यह मुकाबला नहीं जीत पाई है।

पहले MI ने बल्लेबाजी करने का फैसला न लेकर गेंदबाजी करने का फैसला लिया और उनको हार का सामना करना पड़। उसके बाद में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने भी पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया और उनको भी बुरी तरीके से हार का सामना करना पड़ा। लेकिन RR की तरफ से बटलर खेल रहे थे और उन्होंने ऐसा कुछ होने नहीं दिया, बाकी RR ने पहले गेंदबाजी करने का फैसला सही ही लिया था।

अकेले सुनील नारायण ने संभाली KKR की कमान

KKR जब बल्लेबाजी करने उतरे थे, तब उसका कोई भी बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रहा था और कोई भी बल्लेबाज RR की बॉलर्स का सामना नहीं कर पा रहा था। ऐसे में सुनील नारायण एक छोर पर KKR की कमान संभाले हुए थे। वह लगातार रन बना रहे थे। हालांकि रघुवंशी ने सुनील नारायण का थोड़ा बहुत साथ दिया और 18 गेंद में 30 रन बनाकर वह भी पवेलियन चले गए।

आपको बता दे कि सुनील नारायण ने सतक की पारी खेलते हुए KKR को एक अच्छे स्कोर की तरफ पुस कर दिया था। आपको बता दे कि सुनील नारायण ने 56 गेंद में 109 रन बनाए, जो काबिले तारीफ थे। उनकी इस शानदार पारी में 6 छक्के और 13 चौके शामिल थे।

इसके अलावा रिंकू सिंह ने भी अपना अच्छा प्रदर्शन किया और 9 बॉल पर 20 रन बनाकर चलते बने। इसके अलावा किसी ने भी सुनी नारायण का आज साथ नहीं दिया। अगर आज सुनील नारायण का किसी ने साथ दिया होता तो लक्ष्य 300 के पास जा सकता था, लेकिन ऐसा हुआ नहीं।

नहीं चला RR का कोई भी बल्लेबाज

जब 224 रन के लक्ष्य को प्राप्त करने RR मैदान पर उतर रही थी। तब कोई भी बल्लेबाज ऐसा नहीं दिखाई दिया जो इस तरीके की बल्लेबाजी कर सके, जिस तरीके की बल्लेबाजी से RR यह मुकाबला जीत जाए। हालांकि RR की तरफ से शुरुआत काफी तेज दी गई, जिसकी वजह से RR को फायदा हुआ।

लेकिन RR की तरफ से कोई भी बल्लेबाज इतनी घातक पारी नहीं खेल रहा था जिसकी वजह से RR मैच हार जाए। RR के एक के बाद एक विकेट गिर रहे थे और लगभग यह तय हो चुका था कि RR यह है मुकाबला हार जाएगी। लेकिन होनी को कुछ और ही मंजूर था। जिसके चलते राजस्थान का कोई भी प्लेयर ना चलते हुए भी राजस्थान यह मुकाबला जीत गई।

जोस बटलर की शतकिये पारी ने जीता दिया

RR के बल्लेबाज आ रहे थे और जा रहे थे। पर दूसरे छोर पर खड़े थे जोस बटलर जिसने हिम्मत नहीं हारी और आखिरकार यह मुकाबला जीता दिया। आपको बता दे कि जोस बटलर ने काफी धीरे शुरुआत की क्योंकि एक के बाद एक विकेट जा रहे थे। ऐसे में उनको हाथ खोलने का मौका नहीं मिला और वह लगातार धीरे खेल रहे थे।

हालांकि जोस बटलर का साथ रियान पराग ने दिया और 14 बोलो में 34 रन का सहयोग उन्होंने दिया था। उनकी छोटी और महत्वपूर्ण पारी में 2 छक्के और 4 चौके शामिल थे। हार ने ही वाले थे कि जोस बटलर का साथ देने पहुंच गए रोवमैन पॉवेल। रोवमैन पॉवेल ने आते ही अच्छा प्रदर्शन करना शुरू कर दिया और एक बहुत ही अच्छी पारी खेल कर पवेलियन को चले गए।

लेकिन उन्होंने अपना काम कर दिया था। रोवमैन पॉवेल ने 13 गेंद में 26 रन बनाए। उनकी शानदार पारी में 2 छक्के और 1 चौका शामिल था।
आपको बता दें कि रोवमैन पॉवेल ही वह बल्लेबाज थे जिसने IPL 2024 में सुनील नारायण को पहली बाउंड्री लगवाई थी। आज तक IPL 2024 में सुनील नारायण की एक भी बाउंड्री नहीं लगी थी और आज ही उनकी बाउंड्री लगी थी।

मुकाबला आखिरी में पहुंच चुका था और आखिरी 18 बोलो में 46 रन चाहिए थे। जीत के लिए बटलर के पास कोई दूसरा विकल्प नहीं था इसके अलावा की सारी बोले वही खेले अगर सारी बोले वही खेलेंगे तो मुकाबला जीताया जा सकता है।

अगर एक भी बोल दूसरे ने खेली होती तो, हो सकता है कि यह मुकाबला जीता नहीं जा सकता क्योंकि पहले ही 7 विकेट गिर चुके थे और आने वाले बल्लेबाजों में कोई ऐसा प्लेयर नहीं था। जिस पर वह भरोसा कर सके कि वह बड़े हिट खेल पाएंगे क्योंकि बाकी के सारे बल्लेबाज बॉलर थे और बॉलर से उम्मीद लगाना अच्छी बात नहीं होती।

ऐसे में जोस बटलर ने अच्छा प्रदर्शन करते हुए पहले तो अपना शतक पूरा किया और उसके बाद में RR को यह वाला मुकाबला जीता दिया। आपको बता दे कि जोस बटलर के बल्ले से 60 गेंद में 107 रन आए। उनकी शानदार पारी में 6 छक्के और 9 चौके शामिल थे।

आखरी ओवर में जो रन चाहिए थे जिसको उन्होंने खुद के दम पर बनाया और आखिरी 18 बॉल खुद खेलकर RR को यह हारा हुआ मैच जीता दिया। लोगों का यह भी कहना है कि यह तो बटलर थे जिन्होंने यह मुकाबला जीतवा दिया। वरना RR का एक खूंखार बल्लेबाज भी था, जो अगर कहीं पहले आता तो पहले ही यह मुकाबला जिताया जा सकता था। हम बात कर रहे हैं युजवेंद्र चहल की।

युजवेंद्र चहल के लोग मजे लेने के लिए और यह दिखाने के लिए कि आप हार चुके हो। इस तरह की कमेंट्स सोशल मीडिया पर घूम रही थी। आपको बता दे कि जोस बटलर ने आज शाहरुख खान को यह बता दिया कि हर कर जीतने वाले को बाजीगर ही नहीं जोस बटलर भी कहते हैं।

यह भी पढ़ें :-

निष्कर्ष – RR VS KKR – हार कर जीतने वाले को राजस्थान कहते हैं

RR VS KKR के मध्य खेला गया मुक़ाबला काफी रोमांचक मुकाबला था। क्योंकि इस मुकाबले में सिर्फ वन मैन आर्मी की तरह ही गेम देखने को मिला। पहले KKR की तरफ से सिर्फ सुनील नारायण ही गेम को खेलते हुए नजर आए और बोलिंग में ही उन्होंने ही कमाल दिखाया बाकी कोई दूसरा ना तो बल्लेबाज कमाल दिखा पाए और ना ही बॉलर कमाल दिखा पाया।

दूसरी ओर से जोस बटलर ने पूरी तरीके से गेम को अपने कंधों पर ले लिया था और आखिर तक रहकर नाबार्ड रहकर उन्होंने RR को यह वाला मुकाबला जीता दिया। बाकी इस मुकाबले के बारे में आप लोग क्या सोचते हो, कमेंट करके जरूर बताना।

Leave a comment