MI VS PBKS – रोहित ने एक बार दिखा दिया क्यों है वह अच्छे लीडर

MI VS PBKS – IPL 2024 का 33वा महामुकाबला महाराजा यादविंद्र सिंघ क्रिकेट स्टेडियम में MI VS PBKS के बीच में खेला गया। यह मुकाबला इतना रोमांचक रहा कि लोगों को यह समझ में ही नहीं आ रहा था कि यह वाला मुकाबला कौन जीतेगा? आखिरकार इस महा मुकाबले में रोहित शर्मा ने MI के लीडर का काम किया और उनकी सूझबूझ के चलते ही MI यह हारा हुआ मैच जीत गई।

बाकी इस मुकाबले में कब-कब क्या देखने को मिला? कैसा मुकाबला रहा? उसकी पूरी ताजा रिपोर्ट आज की इस पूरी रिपोर्ट में आपको पता चलेगी। तो अगर आप भी जानना चाहते हो MI VS PBKS मुकाबला का पूरा हाल, तो बने रहिए इस आर्टिकल के साथ।

MI VS PBKS

MI VS PBKS – क्या रही टॉस की अहमियत?

IPL 2024 के हर एक मुकाबले में टॉस अपनी एक अलग अहमियत रखता है क्योंकि जो टीम टॉस जीतती है, लगभग 50% उसने मैच को जीत लिया होता है। 50% उसकी काबिलियत होती है कि वह मैच जीतेगी है या फिर नहीं जीतेगी है। क्योंकि T20 क्रिकेट का एक ऐसा फॉर्मेट है जिसमें टॉस अपनी एक अलग अहमियत रखता है।

ऐसे में MI VS PBKS के बीच में खेले जा रहे इस मुकाबले में PBKS ने बाजी मारते हुए पहले टॉस जीत लिया और पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया। क्योंकि PBKS को अच्छी तरीके से पता है कि MI रन चेंज करने में एक अच्छी टीम है और इनको अगर कम से कम रनों पर रोकना है, तो पहले गेंदबाजी ही करनी पड़ेगी। बाकी इनका फैसला काफी ज्यादा लाजवाब था।

रोहित शर्मा और सूर्य कुमार यादव की साझेदारी ने MI को कर दिया मजबूत

रोहित शर्मा और ईशान किशन जब बल्लेबाजी करने उतरे थे, तब ईशान किशन ने रोहित शर्मा का साथ नहीं दिया और ईशान किशन 8 बॉल खेल कर 8 रन बनाकर पवेलियन को चले गए। उसके बाद में आए सूर्यकुमार यादव जिन्होंने रोहित शर्मा के साथ मिलकर अच्छी साझेदारी बनाई।
रोहित शर्मा अच्छी तरीके से बल्लेबाजी कर रहे थे और उन्होंने अच्छी बल्लेबाजी करते हुए सूर्यकुमार यादव का पूरा-पूरा साथ दिया।

जिसके चलते सूर्यकुमार यादव दूसरे छोर से रन बना रहे थे और रोहित शर्मा एक छोर पर डटे हुए थे। आपको बता दे कि रोहित शर्मा ने 25 गंदे खेल कर 36 रन बनाए। उनकी शानदार पारी में 3 छक्के और 2 चौके शामिल थे। इसके अलावा सूर्यकुमार यादव ने एक शानदार पारी खेल कर MI की नाम मजबूत कर दी थी। सूर्यकुमार यादव ने 53 गंदे खेल कर 78 रन बनाए। उनके शानदार पारी में 3 छक्के और 7 चौके शामिल थे।

नहीं दिया तिलक वर्मा का किसी ने साथ

जब रोहित शर्मा आउट होकर पवेलियन को चले गए। तो उसके बाद में तिलक वर्मा बल्लेबाजी करने आए उन्होंने सूर्यकुमार यादव के साथ मिलकर अच्छे रन बनाए और एक छोर से वह अच्छे रन बना रहे थे। लेकिन सूर्यकुमार यादव के आउट होने के बाद किसी ने भी तिलक वर्मा का साथ नहीं दिया, जिसके चलते तिलक वर्मा नाबार्ड रहकर भी अच्छा स्कोर नहीं कर पाए।

फिर भी उन्होंने अच्छी बल्लेबाजी करके 18 गंदे खेल कर 34 रन नाबार्ड रहकर बनाए। उनके इस पारी में 2 चौके और 2 छक्के शामिल थे।
आगे आने वाले बल्लेबाज किसी भी प्रकार का कमाल नहीं दिखा पाए। MI के कप्तान हार्दिक पांड्या भी 6 गेंद खेलकर सिर्फ 10 रन बना पाए और वह भी पवेलियन को चले गए।

उसके बाद में जो भी बल्लेबाज आए उन्होंने तिलक वर्मा को स्ट्राइक ही नहीं दी जिसके चलते तिलक वर्मा दूसरी ओर खड़े रहे और उनको खेलने का मौका ही नहीं मिला। तिलक वर्मा दूसरे छोर पर खड़े थे और लगातार विकेट गिर रहे थे जिसके चलते तिलक वर्मा नाबार्ड रह गए और MI 20 ओवर खेल करके 7 विकेट गंवाकर 192 रन ही बना पाई।

हर्षल पटेल ने दिखाई शानदार गेंदबाजी

PBKS की तरफ से हर्षल पटेल ने अच्छी गेंदबाजी करते हुए सिर्फ 31 रन दिए थे। PBKS की तरफ से हर्षल पटेल ने अपने 4 ओवर पूरे कर लिए, जिसमें उन्होंने 3 सफलताएं हासिल की हर्षल पटेल ने अपना काम कर दिया था। अब बारी थी PBKS की कि वह अच्छी बल्लेबाजी करके इस मुकाबले को जीत जाए।

तिनके की तरह बिखर गई PBKS की टीम

PBKS की तरफ से बल्लेबाजी करने आए बल्लेबाजों ने कुछ खास करके नहीं दिखाया और तिनके की तरह पूरी PBKS की टीम बिखर गई। आपको बता दे कि PBKS के सिर्फ 14 रन बने थे और 4 विकेट PBKS के गिर गए थे। ऐसा लग रहा था कि आज RCB का वह वाला रिकॉर्ड भी टूट जाएगा, जिसमें उन्होंने सिर्फ 49 रन बनाए थे।

लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था। क्योंकि अब आने वाले थे एक महान बल्लेबाज जिसने इस IPL 2024 में लोगों का ध्यान अपनी और आकर्षित किया।

शशांक सिंह ने दिखा दिया वह है PBKS के शेर

जब पूरी टीम तिनके की तरह बिखर चुकी थी तब शशांक सिंह बल्लेबाजी करने आए और उन्होंने एक छोर से अच्छे बल्लेबाजी करके PBKS को मुकाबले में ला दिया था। आपको बता दे कि शशांक सिंह ने सिर्फ 25 बॉल खेली और 41 रन का एक शानदार स्कोर PBKS की तरफ से बना दिया। उनके शानदार पारी में 3 छक्के और 2 चौके शामिल थे।

सभी को लग रहा था कि शशांक सिंह एक खोटे सिक्के हैं और लेकिन शशांक सिंह ने इस IPL 2024 में वह करके दिखाया है जो काफी बल्लेबाजों का सपना होता है। अब शशांक सिंह ने एक अच्छी शुरुआत दे दी थी। अब जरूरत थी एक ऐसे बल्लेबाज की जो PBKS को जीत दिला सके और उनको जीत दिलाने के लिए, आगे आने वाले बल्लेबाज अच्छा कर सकते थे।

आशुतोष शर्मा ने MI को टेंशन दे दी

जब लग रहा था कि PBKS यह मुकाबला आसानी से हार जाएगी और MI आसानी से यह मुकाबला जीत जाएगी। तब बल्लेबाजी करने उतरे आशुतोष शर्मा, जिसने बुमराह को भी नहीं बक्सा और बुमराह के भी छक्के छुड़ा दिये। आपको बता दे कि आशुतोष शर्मा ने इस तरह की रिकार्ड तोड़ बल्लेबाजी की। जिसको देखकर सभी हक्के बक्के रह गए।

आशुतोष शर्मा ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी में 28 रनों में 61 रन की पारी खेल दी थी। आशुतोष शर्मा की इस कमाल की बल्लेबाजी में 7 छक्के और 2 चौके शामिल थे। आशुतोष शर्मा जब पवेलियन को लौटे तब आशुतोष शर्मा ने अपना काम कर दिया था। क्योंकि 18 गेंद में सिर्फ 28 रन चाहिए थे, जो किसी भी टीम को बनाने के लिए मुश्किल नहीं होते हैं।

जसप्रीत बुमराह का चला जादू

जब MI को लगा कि वह मुकाबले से दूर जा रहे हैं, तब तक जसप्रीत बुमराह को लाया गया और जसप्रीत बुमराह ने अपना जादुई मैजिक दिखाने शुरू कर दिया। आपको बता दे कि जसप्रीत बुमराह ने अपने चारों ओवर कंप्लीट की है, जिसमें उन्होंने सिर्फ 21 रन दिए। साथ में उन्होंने महत्वपूर्ण विकेट भी निकाले।

जिसके चलते MI यह मुकाबला जीत पाई। कोई कुछ भी कहे अगर जसप्रीत बुमराह को इस जीत का श्रेय नहीं दिया जाएगा तो यह उनके साथ नाइंसाफी होगी। आकाश मधवाल ने PBKS को पिछली ओवर में 24 रन दे दिए थे। उसके बाद में जसप्रीत बुमराह ही बॉल लेकर आए और उन्होंने इस तरीके का ओवर किया जिसकी लोगों ने उम्मीद कर के रखी थी।
आपको बता दे कि जसप्रीत बुमराह ने उस वाले ओवर में जो उनका आखिरी ओवर था, उसमें सिर्फ 3 रन दिए जिसके चलते PBKS एक बार फिर से प्रेशर में आ गई और आगे आने वाले ओवर में आशुतोष शर्मा को मजबूर कर दिया एक लंबा हिट करने के लिए और लंबा हिट करने के चलते आशुतोष शर्मा ने अपना कैच MI के फील्डर के हाथ में दे दिया।

रोहित शर्मा कप्तानी करते दिखे इस मैच में

आप सभी को पता है जब IPL 2024 की शुरुआत हुई थी तब रोहित शर्मा की कप्तानी को लेकर किस तरह की बातें हुई थी। आपको बता दे कि MI ने रोहित शर्मा को कप्तानी से हटकर हार्दिक पांड्या को कप्तान बनाया था। तब से लेकर अब तक रोहित शर्मा के चाहने वाले हार्दिक पांड्या को ट्रोल कर रहे हैं।

इस मुकाबले में रोहित शर्मा कप्तानी करते हुए नजर आए क्योंकि हार्दिक पांड्या को समझ में आ गया था कि रोहित शर्मा एक ऐसे प्लेयर है जो अब MI की डूबती हुई नैया को पार लगा सकते हैं क्योंकि आशुतोष शर्मा ने लगभग मैच को समाप्त कर दिया था। और MI के जबड़े से जीत को छीनकर MI के हाथों में ला दिया था।

आखिरी ओवर में सिर्फ 9 रन चाहिए थे। जो बनना मुश्किल बात नहीं थी लेकिन रोहित शर्मा ने कप्तानी को अपने हाथ में लेते हुए इस तरह के की फील्ड सजाई इस तरह की फील्ड सजाई की बल्लेबाज को आउट करके ही सांस लिया। आपको बता दें कि रोहित शर्मा के इस शानदार कप्तानी के चलते ही यह वाला मुकाबला MI जीत पाई।

बाकी किसी एक प्लेयर का योगदान नहीं होता है किसी टीम को जीताने और हराने में सभी का योगदान रहता है। जिसके चलते पूरी टीम अपना सर्वोत्तम देकर किसी मुकाबले को जीत पाती है।

यह भी पढ़ें :-

निष्कर्ष – MI VS PBKS – रोहित ने एक बार दिखा दिया क्यों है वह अच्छे लीडर

MI VS PBKS के बीच खेला गया यह मुकाबला काफी ज्यादा यादगार रहा क्योंकि इस मुकाबले में पहले MI के हाथों से यह मुकाबला जाता हुआ नजर आ रहा था। फिर MI यह मुकाबला अपनी और ला पाई, लेकिन आशुतोष शर्मा और शशांक सिंह की शानदार बल्लेबाजी के चलते ही MI के हाथों से यह मैच लगभग जा चुका था।

उसके बाद में जसप्रीत बुमराह और रोहित शर्मा की शानदार कैप्टंसी के चलते यह वाला मुकाबला MI जीत पाई, वरना हार्दिक पांड्या ने तो उम्मीद ही खो दी थी। इस मुकाबले में बाकी आप लोग क्या सोचते हो? आप हमें कमेंट करके बता सकते हो।

Leave a comment