MI VS DC – एक बार फिर मुंबई इंडियंस हार गई कांटे के मुकाबले में

MI VS DC – IPL 2024 के इस सीजन का 46वा मुकाबला MI VS DC के बीच में अरुण जेटली स्टेडियम में खेला गया। इस महा मुकाबले में में 10 रनों से इस मुकाबले को हार गई है। वही DC की टीम इस मुकाबला को जीत गई है। इस मुकाबले में बहुत कुछ देखने को मिला। कभी ऐसा लगा कि दिल्ली यह वाला मुकाबला आराम से जीत जाएगी।

कभी ऐसा लगा कि मुंबई भी यह वाला मुकाबला जीत सकती है। लेकिन आखिरकार MI को एक बार फिर से एक कांटे के मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा है और ऋषभ पंत की अच्छी कप्तानी के चलते ही DC की टीम यह वाला मुकाबला जीत गई।

बाकी MI VS DC के मुकाबले की अगर आपको पूरी रिपोर्ट चाहिए। तो इस ताजा रिपोर्ट के साथ बने रहिए। आज की इस ताजा रिपोर्ट में हम आपको MI VS DC के बीच खेले गए मुकाबले के बारे में बताने वाले हैं।

MI VS DC – क्या रहा टॉस का हाल?

MI VS DC के बीच खेले गए इस मुकाबले में MI ने यह वाला मैच जीतने के लिए पहले टॉस को जीत लिया और उसके बाद में गेंदबाजी करने का फैसला लिया। MI चाहिए थी कि वह बुमराह जैसे बॉलर्स का इस्तेमाल करके DC को कम से कम रनों पर रोक सके और उसके बाद में MI के जो ताबड़तोड़ बल्लेबाज है, वह मुंबई के लिए जल्दी रन बनाकर DC के द्वारा बनाए गए रनों को आसानी से चेस कर लेंगे और यह वाला मुकाबला जीत जाएंगे।

लेकिन हार्दिक पांड्या जब से MI के कप्तान बने हैं तब से पता नहीं MI को हो क्या गया है एक के बाद एक मुकाबला वह हारती हुई दिख रही है। बाकी टॉस जीत कर MI ने जो गेंदबाजी करने का फैसला लिया वह कुछ हद तक सही फैसला था।

जेक फ्रेजर-मैक्गर्क की धमाकेदार ओपनिंग परी

जब दिल्ली की टीम बल्लेबाजी करने उतरी तब उनकी तरफ से ओपनिंग करने आए जेक फ़्रेज़र-मैकगर्क ने धमाकेदार पारी खेलते हुए अपना सर्वोत्तम योगदान DC की टीम के लिए दिया। उन्होंने अपनी पारी में पूरे 84 रन बनाए सिर्फ 27 गंदे खेल कर। उनके इस विस्फोटक पारी में 6 छक्के और 11 चौके शामिल थे।

आपको बता दे की जेक फ़्रेज़र-मैकगर्क अपनी सर्वोत्तम 311 की स्ट्राइक रेट से खेल रहे थे और उनके चलते ही DC को एक बहुत ही बढ़िया शुरुआत मिल चुकी थी और वह लगभग इस मुकाबले में अपनी जीत की दावेदारी पेश कर रहे थे। उनके ही चलते DC की टीम मजबूत स्थिति में आ चुकी थी।

शाइ होप ने खेली 41 रनों की ताबड़तोड़ पारी

DC की तरफ से आज शाइ होप ने भी बहुत ही अच्छी पारी खेली। उन्होंने सिर्फ 17 गेंद में 41 रन बनाए और इस ताबड़तोड़ पारी में उनके 5 छक्के भी देखने को मिले। शाइ होप ने अपना काम कर दिया था। अब बारी थी ऋषभ पंत और बाकी DC के प्लेयर्स की, जो DC को एक अच्छा स्कोर बनाने में मदद कर सके क्योंकि शाइ होप ने अपना काम कर दिया था।

ट्रिस्टन स्टब्स ने भी खेली एक अच्छी पारी

ऋषभ पंत ने आज छोटी पारी तो खेली लेकिन रन ज्यादा नहीं बना पाए। लेकिन उनकी कमी को पूरा किया ट्रिस्टन स्टब्स ने उन्होंने सिर्फ 25 बॉल्स खेली और 48 रन अपनी टीम के लिए बनाए। उनकी इस पारी में 2 छक्के और 6 चौके शामिल थे। ट्रिस्टन स्टब्स की अच्छी बल्लेबाजी के योगदान के चलते ही दिल्ली एक बेहतरीन स्कोर MI की टीम के सामने रख पाई।

आपको बता दे कि MI के सामने DC की टीम ने 257 रन बनाकर 258 का लक्ष्य रखा था। हालांकि पिछले मुकाबले में PBKS ने 262 रन लक्ष्य प्राप्त करें। IPL में सबसे बड़े मुकाबले में सबसे बड़े रन चेस करने में अपनी सबसे बड़ी पारी खेल कर 262 रन के बड़े लक्ष्य को प्राप्त कर लिया था।

उसको देखकर लग रहा था कि आज भी 258 का लक्ष्य प्राप्त हो सकता है क्योंकि MI की टीम के सामने बड़ी-बड़ी टीम भी पानी भरती नजर आती है। ऐसे में देखना था कि क्या MI कोई अच्छा प्रदर्शन कर पाएगी?

ल्यूक वुड और हार्दिक पांड्या ने की घटिया गेंदबाजी

क्रिकेट में जब भी बैट्समैनों की बात होती है तो बॉलर्स की भी बात होनी जरूरी होती है। क्योंकि अकेले बल्लेबाज ही मैच का रुख नहीं बदलते गेंदबाज भी अपना सर्वोत्तम योगदान देते हैं। ऐसे में आज MI की तरफ से खेल रहे ल्यूक वुड ने MI की नैया डुबो दी। आपको बता दे की ल्यूक वुड ने अपने चार ओवर पूरे किए जिसमें उन्होंने 68 रन MI की तरफ से DC की टीम को गिफ्ट में दे दिया।

हालांकि उन्होंने एक विकेट भी निकाला लेकिन इतने रन देने के बाद अगर आप एक विकेट निकलते भी हो तो आपकी प्रशंसा नहीं की जा सकती। इसी तरीके से हार्दिक पांड्या ने भी, सिर्फ 2 ओवर MI की तरफ से करवाए जिन दोनों ओवर में उन्होंने अच्छे खासे रन दिए।

सिर्फ 2 ओवर में 41 रन गिफ्ट के तौर पर MI के खिलाफ खेल रही DC की टीम को दे दिए। हार्दिक पांड्या ने इतनी खराब गेंदबाजी की कि सिर्फ 2 ही ओवर उन्होंने पूरे मैच में करवाए और आगे उन्होंने ओवर ही नहीं लिया।

नहीं चला रोहित का बल्ला

MI 258 रन के लक्ष्य को प्राप्त करने मैदान में उतरी MI की तरफ से रोहित शर्मा और ईशान किशन ओपनिंग करने आए और हमेशा की तरह उन्होंने अपना गेम शुरू किया। जिस तरीके से रोहित शर्मा और ईशान किशन ओपनिंग देते हैं अपनी टीम को उसी तरह की ओपनिंग आज देखने को नहीं मिली।

क्योंकि रोहित शर्मा 8 बॉल्स खेल कर 8 रन बनाकर पवेलियन को चले गए थे। इसी तरीके से रोहित शर्मा की तरह ही इशान किशन भी कोई कमाल नहीं कर पाए और उन्होंने भी सिर्फ 14 बॉल्स खेल कर 20 रन ही बनाए। हालांकि उनके पारी में 4 चौके जरूर आए लेकिन वह अपनी टीम को अच्छी शुरुआत नहीं दिला पाए।

इस तरीके से रोहित शर्मा और ईशान किशन का बल्ला नहीं चला। जिसका खामियाजा MI को भुक्तना पड़ा। क्योंकि अगर आपकी टीम के ओपनर अच्छा प्रदर्शन नहीं करते हैं। तो लगभग आपकी हार निश्चित हो जाती है और इसी तरीके से ही आज रोहित शर्मा और ईशान किशन ने अच्छी बैटिंग नहीं की जिसका खामियाजा देखने से ही पता चलता है कि MI को हार कर चुकाना पड़ा।

अगर इन दोनों बल्लेबाज में से एक भी बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन करता तो MI यह वाला मुकाबला 10 रनों से हारती नहीं, यह वाला मुकाबला जीत जाती आसानी से।

सूर्यकुमार यादव की चोटी पर महत्वपूर्ण पारी

IPL के इस वाले मुकाबले में सूर्यकुमार यादव वैसे तो कोई खास काम नहीं कर पाए लेकिन 26 रनों की चोटी पर महत्वपूर्ण पारी उनके बल्ले से भी देखने को मिली। आपको बता दे कि उन्होंने 13 बॉल्स खेल कर 200 की स्ट्राइक रेट से 26 रन बनाए। उनकी छोटी सी महत्वपूर्ण पारी में 2 छक्के और 3 चौके शामिल थे।

हालांकि उन्होंने सिर्फ 26 रन बनाए लेकिन MI की पहले ही 2 विकेट गिर चुके थे और उन्होंने कोई अच्छे रन नहीं बनाए थे। लेकिन 200 की स्ट्राइक रेट से खेल कर सूर्यकुमार यादव ने 26 रन बनाए। यह उनकी चोटी पर महत्वपूर्ण पारी कहीं जा सकती है। लेकिन सूर्यकुमार यादव को एक अच्छी पारी खेल कर अपनी टीम को जितवाना था लेकिन वह ऐसा नहीं कर पाए।

हार्दिक पांड्या ने खोली कप्तानी पारी

IPL 2024 में हार्दिक का बल्ला और बॉल दोनों शांत थे। लेकिन आज के इस मुकाबले में हार्दिक पांड्या का वह वाला रूप देखने को मिला जिसके लोग दीवाने हैं। आज हार्दिक पांड्या ने कप्तानी पारी खेल कर लोगों को यह बता दिया है कि हार्दिक पांड्या वह पहले वाले ही पांड्या है बस लोगों ने उन्हें ट्रोल कर कर के थोड़ा सा मेंटली डिस्टर्ब कर दिया है।

जिसके चलते वह अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रहे थे। लेकिन धीरे-धीरे उनकी गाड़ी पटरी पर आ रही है। आज उन्होंने 24 गेंद में 46 रन बनाए हालांकि रन इतने अच्छे नहीं थे। लेकिन जब सूर्यकुमार यादव, इशान किशन और MI की जान कहे जाने वाली रोहित शर्मा जब जल्दी ही पवेलियन को चले गए।

तब ऐसा लग रहा था कि MI यह वाला मुकाबला हार जाएगी लेकिन हार्दिक पांड्या की ताबड़तोड़ विस्फोटक पारी के चलते ही MI इस वाले मुकाबले में बनी रही। आज कहना होगा कि हार्दिक पांड्या भले ही गेंदबाजी से अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए हो लेकिन MI की तरफ से आज उन्होंने एक बढ़िया पारी खेल कर अपनी टीम के लिए आने वाले मुकाबले में एक उम्मीद की किरण जगा दी है।

MI की तरफ से खेलते हुए हार्दिक पांड्या ने इस वाले मुकाबले में 24 बॉल खेल कर 46 रन बनाए। उनके इस पारी में 3 छक्के और 4 चौके शामिल थे।

जब सारे साथ छोड़ जाते हैं तिलक वर्मा ही साथ निभाते हैं

MI के प्लेयर एक के बाद एक पवेलियन को जा रहे थे। लेकिन तिलक वर्मा पिच पर डटे हुए थे और लगातार अपने बल्ले से हल्ला मजा रहे थे। उनके ही चलते MI लगभग यह वाले मुकाबले को जीतते जीतते रह गई। हालांकि तिलक वर्मा अपनी टीम को जीता तो नहीं पाए लेकिन अपनी टीम की इज्जत बचाने में वह कामयाब रहे।

तिलक वर्मा ने MI के लिए आज 32 गेंद में 63 रन बनाकर बहुत अच्छा प्रदर्शन किया। उनके बल्ले से 4 चौके और 4 छक्के भी देखने को मिले। वह मैच के अंत तक बने रहे फिर भी मैच को जीता नहीं पाए। क्योंकि दूसरी छोर से उनका साथ किसी ने नहीं दिया। तिलक वर्मा ने MI के लिए हमेशा बिकट परिस्थितियों में रन बनाए हैं और आज भी कुछ ऐसा देखने को मिला।

टिम डेविड ने खोली विस्फोटक पारी

जब मुंबई इंडियंस के एक के बाद एक विकेट गिर रहे थे। तब टिम डेविड ने तिलक वर्मा के साथ मिलकर एक अच्छी साझेदारी बनाई और टिम डेविड ने एक अच्छा स्कोर अपने बल्ले से भी MI के लिए बनाया। आपको बता दे कि टिम डेविड ने सिर्फ 17 गेंद में 37 रन बनाए। उनके बल्ले से 3 छक्के और 2 चौके भी देखने को मिले।

जब टिम डेविड पिच पर थे तब एक समय तो लगा था कि MI यह वाला मुकाबला जीत जाएंगे। लेकिन जैसे ही टिम डेविड का बल्ला शांत हुआ और वह अपना विकेट दे बैठे। तब MI के लिए मुसीबत सामने आ गई क्योंकि टिम डेविड जिस तरीके से खेल रहे थे उस तरीके से लग रहा था कि आज का यह मुकाबला टिम डेविड और तिलक वर्मा जीत कर ले जाएंगे।

10 रनों से हार गई MI

MI यह वाला मुकाबला सिर्फ 10 रनों से हार गई। इस वाले मुकाबले में DC की टीम लगभग हर समय हावी रही। कभी भी ऐसा नहीं लगा कि DC की टीम हार रही है हालांकि क्रिकेट एक अनिश्चित का गेम है इसलिए कभी-कभी MI का पलड़ा थोड़ा सा भारी हुआ।

लेकिन उस भारीपन को दूर किया DC के बल्लेबाजों ने और सबसे अच्छा काम किया DC के गेंदबाजों ने, उन सभी की मेहनत की वजह से DC ने यह वाला मुकाबला 10 रनों से जीत लिया।

यह भी पढ़े :-

  1. DC VS GT – कांटे की टक्कर में 4 रनों से जीत गई दिल्ली की टीम
  2. KKR VS PBKS – सबसे बड़े लक्ष्य वाले मुकाबले में पंजाब ने दर्ज की…
  3. CSK VS LSG – लखनऊ की टीम के सामने नहीं चली धोनी की एक…

निष्कर्ष – MI VS DC – एक बार फिर मुंबई इंडियंस हार गई कांटे के मुकाबले में

कांटे के मुकाबले में MI ने यह वाला मुकाबला अपने हाथों से गवा दिया। उनके पास मौका था इस मुकाबले को जीतने का, MI लगातार एक के बाद एक मैच हारती आ रही है जिसके चलते मुझे नहीं लगता कि MI वापसी कर पाएगी। लेकिन MI ने इस तरीके से हार करके वापस वापसी एक बार नहीं बहुत बार की है।

तो इस बार भी लगता है कि MI वापसी कर लेगी। लेकिन पहले के टाइम में कप्तानी कर रहे थे रोहित शर्मा और इस टाइम में कप्तानी कर रहे है हार्दिक पांड्या। जिनको लोगों का वह प्यार और साथ बिल्कुल भी नहीं मिल रहा। बाकी दिल्ली की टीम ने अपना सर्वोत्तम योगदान दिया जिसके चलते यह वाला मुकाबला DC की टीम जीत गई।

आप लोग इस मुकाबले के बारे में क्या सोचते हैं?कमेंट करके जरूर बताना।

1 thought on “MI VS DC – एक बार फिर मुंबई इंडियंस हार गई कांटे के मुकाबले में”

Leave a comment