LSG VS DC – दिल्ली को मिली एक आसान जीत

LSG VS DC – IPL 2024 का 26वां मुकाबला इकाना स्पोर्ट्स सिटी, लखनऊ में LSG VS DC के बीच में खेला गया। इस मुकाबले में दिल्ली ने एक आसान जीत को अपने नाम किया। क्योंकि LSG अच्छा स्कोर बनाने में कामयाब नहीं हुई थी। जिसके चलते DC को यह मुकाबला जीतने में किसी प्रकार की परेशानी का सामना करना नहीं पड़ा और ऋषभ पंत की कप्तानी में दिल्ली ने यह मुकाबला जीत लिया।

LSG VS DC के बीच खेला गया यह मुकाबला किस तरीके का मुकाबला था और इस मुकाबले में क्या-क्या आपको देखने को मिला? उसकी पूरी रिपोर्ट आज की ताजा रिपोर्ट में आपको दी जाएगी तो इस पूरी रिपोर्ट के साथ बने रहिए।

LSG VS DC - दिल्ली को मिली एक आसान जीत

LSG VS DC का टॉस की भूमिका क्या रही?

मैं हर बार कहता हूं कि जब भी कोई क्रिकेट का मुकाबला होता है। तब उसमें टॉस अहम भूमिका निभाता है लेकिन आज के इस मुकाबले में जो LSG VS DC के बीच में खेला गया। इस मुकाबले में टॉस ने कोई अहम भूमिका नहीं निभाई। क्योंकि LSG VS DC के बीच खेले गए इस मुकाबले में पहले LSG ने टॉस जीत लिया।

उसके बाद पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। यह फैसला उनके हक में साबित नहीं हुआ और उनको यह मैच दिल्ली को गिफ्ट में देना पड़ा। क्योंकि उनका कोई भी बल्लेबाज दिल्ली के बॉलर्स के सामने टिक नहीं पाया और LSG बहुत कम रन DC के सामने बना पाई। जिसकी वजह से उनको हार का सामना करना पड़ा।

केएल राहुल की अच्छी पारी

जब केएल राहुल की कप्तानी में LSG ने पहले गेंदबाजी ना करके बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। तब ऐसा लग रहा था कि आज केएल राहुल अच्छा प्रदर्शन करेंगे और उनकी पूरी टीम अच्छा प्रदर्शन करेगी। लेकिन ऐसा कुछ देखने को नहीं मिला। केएल राहुल के साथ बल्लेबाजी करने उतरे डिकॉक भी अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए और पवेलियन को चले गए।

LSG की पूरी टीम बिखर रही थी। उस वक्त केएल राहुल डटे रहे और ऐसे में जहां पर उनकी टीम बिखर रहे थी। उस टाइम पर उन्होंने 39 रन का योगदान सिर्फ 22 बोलों पर दिया। उनकी इस पारी में 1 छक्का और 5 चौके भी शामिल थे।

अगर आज के एल राहुल का कोई अच्छे से साथ दे देता तो अच्छा स्कोर बनाकर LSG को केएल राहुल जीता सकते थे, लेकिन किसी ने भी उनका साथ नहीं दिया।

LSG के गिरे एक के बाद एक विकेट

जैसा कि मैं पहले ही बता चुका हूं कि के एल राहुल का किसी ने साथ नहीं दिया और एक के बाद एक LSG के विकेट गिर रहे थे। जिसके चलते पूरी की पूरी LSG टीम बिखर गई थी और एक अच्छा स्कोर नहीं बना पाई।
आपको बता दे कि लगभग 13 ओवर पूरे हो चुके थे और LSG 94 रनों पर खेल रही थी जिनमें उनके 7 विकेट जा चुके थे।

अब ऐसा लग रहा था कि 15 ओवर तक लगभग LSG की पूरी टीम सिमट जाएगी और उनके 120 रन के आसपास बनेंगे। क्योंकि एक के बाद एक विकेट गिरते जा रहे थे, लेकिन मैच में अभी ट्विस्ट आना बाकी था लेकिन अब तक कोई ट्विस्ट देखने को नहीं मिला।

आयुष बडोनी ने संभाली LSG की पारी

जब LSG के एक के बाद एक विकेट गिर रहे थे। तब एक बंदा आया जिसने पूरी पारी को संभाला और लखनऊ सुपर जेंट्स को पूरे 20 ओवर खिलवाकर एक लड़ने योग्य स्कोर बना दिया। जिस पर जीता भी जा सकता था और जिस पर नहीं भी जीता जा सकता। आपको बता दे कि आयुष बडोनी ने 55 रन बनाए सिर्फ 35 गंदे खेल कर।

उनकी इस अहम पारी में 1 छक्का और 5 चौके शामिल थे। हालांकि उनकी स्ट्राइक रेट कम थी लेकिन इस तरह की उपस्थितियों में विकेट रोकने बहुत जरूरी थे। क्योंकि अगर आपके पास विकेट नहीं रहेंगे, तब आने वाले रन, जो आप कम गति से भी बना रहे थे वह भी नहीं बनेंगे और आपकी पूरी टीम ऑल आउट हो जाएगी।

वह आयुष बडोनी ही थे जिसकी बदौलत LSG, DC के सामने 168 रन का लक्ष्य रख पायी, वरना LSG की Team 120 पर ही दम तोड़ देती।

वार्नर का गिरा विकेट

वैसे तो अगर आप किसी क्रिकेट एक्सपर्ट से पूछोगे तो DC की टीम एक औपचारिकता निभाने वाले मैच को खेल रही थी। क्योंकि इतना कम स्कोर था कि जिसको जीतना आसान था और औपचारिकता के ही चलते वह इस मैच को खेल रहे थे वरना मैच तो वह पहले ही जीत चुके थे।

इसलिए जब DC की तरफ से पृथ्वी शाह और डेविड वार्नर ओपनिंग करने आए तब डेविड वार्नर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए। जिसके चलते डेविड वार्नर अपना विकेट दे बैठे और पवेलियन को चल दिए। डेविड वार्नर के आउट होने से LSG को थोड़ी खुशी जरूर हुई होगी लेकिन रन इतने कम थे कि उनकी खुशी जाहिर भी नहीं की जा सकती थी।

डेविड वार्नर ने 9 गेंद में सिर्फ 8 रन बनाए। कमाल की बात यह है कि उनकी छोटी सी पारी में एक चौका भी शामिल था।

आसानी से जीत गई DC की टीम

मैं आपको पहले ही बता चुका हूं कि यह एक आसान लक्ष्य था। जिसको प्राप्त करने के लिए DC मैदान में उतरी थी। पृथ्वीशॉ अच्छा प्रदर्शन करते हुए 22 गेंद में 32 रन बनाए। जिसमें 4 छक्के भी शामिल थे। जेक फ्रेजर-मैक्गर्क ने 35 गेंदे खेल कर 55 रन बनाए। उनकी इस पारी में 5 छक्के और 2 चौके शामिल थे।

आपको बता दे कि DC के कप्तान ऋषभ पंत ने भी अपना अच्छा प्रदर्शन किया, जिसमें उन्होंने 24 गेंद खेलकर 41 रन बनाए। उनकी इस कप्तानी पारी में 4 चौके और 6 छक्के शामिल थे। DC की बल्लेबाजी देखते हुए आपको ऐसा लग सकता है कि वह काफी धीरे खेल रहे थे।

धीरे खेलने की वजह यह थी कि स्कोर कम बनाना था और विकेट रखना जरूरी था। क्योंकि अगर वह जल्दी खेलते तो हो सकता है तो वह अपने विकेट खो बैठते। जिसके चलते इस आसन स्कोर को प्राप्त करना भी उनके लिए मुश्किल हो जाता। इसलिए दिल्ली के बल्लेबाज काफी धीरे खेल रहे थे।

उनको सिर्फ रन बनाने थे। स्ट्राइक रेट वैसे भी उनको कम चाहिए थी। इसलिए उन्होंने धीरे खेलते हुए अपने लक्ष्य को प्राप्त किया। सभी के सहयोग से आसानी से DC की टीम यह मुकाबला जीत गई।

यह भी पढ़ें :-

निष्कर्ष – LSG VS DC – दिल्ली को मिली एक आसान जीत

LSG VS DC के बीच में खेला गया यह मुकाबला काफी ज्यादा बढ़िया देखने को मिला। क्योंकि जब DC की टीम पिछले 5 मैचो में सिर्फ एक ही मैच जीत पाई है। तो उनके लिए यह मुकाबला जीतना बहुत जरूरी था। साथ में LSG के लिए भी यह मुकाबला काफी ज्यादा जरूरी था क्योंकि उनको भी यह जीत चाहिए थी।

LSG पिछले कुछ मैचो में बहुत अच्छा कर रही थी क्योंकि उन्होंने अब तक सिर्फ चार मुकाबले खेले थे। पहले मुकाबले को छोड़कर बाकी तीन मुकाबले उन्होंने लगातार जीते थे। तो आज भी देखा जा रहा था कि LSG यह मुकाबला जीत जाएगी लेकिन DC ने ही बाजी मार ली।

बाकी इस मुकाबले में कौन सा प्लेयर आपको दिल लुभाने में कामयाब रहा। आप कमेंट करके बता सकते हो।

Leave a comment