क्या लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार लागू कर देगी CAA?

0
42


पिछले एक-दो सालों से नागरिकता संशोधन कानून को लेकर लोगों में दिलचस्पी बनी हुई है। कुछ लोग इसके फायदे बता रहें हैं, तो कुछ लोग इसके नुकसान बता रहे हैं। ऐसे में सरकार की तरफ से बधाई न्यूज़ आ रही है कि मार्च के महीने में भारत में मोदी सरकार के द्वारा Caa लागू कर दिया जाएगा।

जैसा कि आप सभी को पता है कि लोकसभा चुनाव की घोषणा मार्च के पहले सप्ताह में ही कर दी जाएगी। ऐसे में आचार संहिता लगने से पहले श्री मोदी सरकार को कानून लागू करना पड़ेगा। तो मोदी सरकार ने यह खुलकर कह दिया है कि हम जल्द ही CAA कानून लगाने वाले हैं।

ऐसे में क्या सच में मोदी सरकार लोकसभा चुनाव से पहले CAA कानून को लागू कर देगी या फिर इसके बारे में झूठी अफवाहें फैलाई जा रही है।
हम आज के इस आर्टिकल में आज की इस पूरी न्यूज़ में आप सभी को पूरी जानकारी देने वाले हैं।

आपको बता दे कि नागरिकता संशोधन कानून के लागू होने से भारत के पड़ोसी देशों जैसे बांग्लादेश, नेपाल और पाकिस्तान जैसे देशों में उत्पीड़न का शिकार हुए हिंदू, जैन, सिख और बौद्ध समुदायों को लोगों को बड़ा ही फायदा मिलेगा।

क्या लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार लागू कर देगी CAA?

क्या मार्च में सचमुच लागू हो जाएगा CAA?

जी हां आप लोगों ने सही सुना है। मार्च में ही कानून लागू कर दिया जाएगा, क्योंकि इस कानून को पहले से ही मंजूरी मिल चुकी है। अब देरी है इस कानून को लागू करने की बहुत सारे लोगों का यह मानना है कि इस कानून के लागू होने से बहुत सारे लोगों को फायदा मिलेगा।

लेकिन मुस्लिम समुदाय के लोगों का कहना है कि यह मुस्लिम विरोधी कानून है। इसको वापस लेना चाहिए, इसके लिए उन्होंने हिंसक प्रदर्शन भी किए थे, लेकिन मोदी सरकार का कहना है कि इस कानून के लागू होने से 31 दिसंबर 2014 से पहले आए हुए शरणार्थी जो हिंदू,जैन, बुद्ध और सिख है। उन लोगों को भारत की नागरिकता मिल सकेगी, जिससे कि उन सभी को सुविधाओं के साथ-साथ भारत के मूलभूत अधिकार भी प्राप्त हो जाएंगे।

जिसके चलते उनकी जिंदगी खुशियों से भर सकती है। आपको बता दे कि बांग्लादेश अफगानिस्तान और पाकिस्तान जैसे देशों में हिंदू, जैन, सिख और बौद्ध समुदाय अल्पसंख्यक है और इनको धर्म के नाम पर धार्मिक उत्पीड़न का सामना करना पड़ता है। जिसके चलते यह समुदाय बड़ी ही संख्या में वहां से पलायन करके भारत में आ जाया करते हैं।

ऐसे में दिल्ली,यूपी और नोएडा के आसपास के क्षेत्र में इंप्लेन करने वालों की संख्या बहुत ज्यादा आकर बस गई है। ऐसे में उनको मूलभूत सुविधा के साथ-साथ मूलभूत अधिकार देना भी जरूरी हो गया है। इस कानून के लागू होने के बाद में 31 दिसंबर 2014 से पहले आए हुए लोगों को भारत की नागरिकता दे दी जाएगी।

हालांकि मुस्लिम समुदाय के लोगों का कहना है कि यह मुस्लिम विरोधी कानून है, लेकिन भारत सरकार का यह कहना है कि यह किसी भी समुदाय विशेष के खिलाफ कानून नहीं है। इस कानून की मदद से पड़ोसी देशों में पीड़ित अल्पसंख्यकों को भारत की नागरिकता मिल सकेगी।

अब आपके ऊपर दी गई सारी बातों से यह पूरी तरीके से स्पष्ट हो गया होगा कि मार्च महीने मैं ही CAA लागू कर दिया जाएगा।

निष्कर्ष – क्या लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार लागू कर देगी CAA?

जैसा कि आप सभी को पता है कि लोकसभा चुनाव बहुत नजदीक है और लोकसभा चुनाव की घोषणा मार्च महीने के पहले सप्ताह में ही कर दी जाएगी। ऐसे में आचार संहिता लागू होने से पहले पहले भारत सरकार देश में CAA कानून लागू करेगी।

इस कानून को लेकर आपके मन में अगर कोई भी सवाल या फिर शंका है। तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हो। आपके कमेंट का यथासंभव और सटीक जवाब दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here